Language: English Hindi Marathi

इंदौर अब टूरिस्ट की पहली पसंद नहीं!:धार्मिक नगरी मैहर-चित्रकूट ने सबको पीछे छोड़ा; जानिए वजह…

देसी और विदेशी पर्यटकों के लिए कभी पहली पसंद रहा इंदौर अब मोस्ट फेवरेट टूरिस्ट डेस्टिनेशन नहीं है। कोरोना काल में सबसे ज्यादा पॉजिटिव केस वाले इंदौर से पर्यटकों ने दूरी बना ली है। इंदौर की जगह अब मैहर और चित्रकूट मध्यप्रदेश का पसंदीदा टूरिस्ट प्लेस बन गया है।

मध्यप्रदेश टूरिज्म विभाग के अनुसार 2021 में करीब ढाई करोड़ देसी पर्यटकों ने मध्यप्रदेश की सैर की। इनमें से मैहर और चित्रकूट करीब सवा करोड़ पर्यटक पहुंचे। प्रदेश में आने वाला हर दूसरा पर्यटक मैहर और चित्रकूट पहुंचा। विदेशी पर्यटकों की संख्या में पहले से कमी आई है। विदेशी टूरिस्ट की संख्या 2020 की तुलना में 2021 में आधी यानी 41 हजार के आसपास रह गई। खास बात यह भी है कि विदेशी पर्यटकों को अब पन्ना टाइगर रिजर्व सबसे ज्यादा भा रहा है। अभी तक बांधवगढ़ सबसे ज्यादा पसंदीदा था। वादियों की रानी पचमढ़ी विदेशियों को नहीं लुभा पा रही है।

इंदौर से दूरी का कारण
कोरोना मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा इंदौर में फैला। प्रदेश के सबसे ज्यादा पॉजिटिव केस और सबसे ज्यादा मौतें यहां दर्ज हुईं। लॉकडाउन में प्रशासन की सख्ती के बाद भी कोरोना केस लगातार बढ़ते गए। फ्रंटलाइन वर्कर्स को कुछ इलाकों में दौड़ा-दौड़ाकर पीटे जाने के मामले भी सामने आए थे।

नवंबर में 30% देसी पर्यटक आए
कोरोना के कारण मध्यप्रदेश में साल 2020 में पर्यटकों की संख्या में काफी कमी आई थी, लेकिन 2021 में काफी कुछ राहत रही। जनवरी से लेकर दिसंबर तक प्रदेश में 2 करोड़ 48 लाख 28 हजार 233 पर्यटकों ने सैर की। इनमें से करीब 20% यानी 56 लाख 70 हजार 584 तो नवंबर में ही आए। इसके बाद अगस्त में 30 लाख से ज्यादा पर्यटकों ने मध्यप्रदेश के पर्यटन स्थल घूमे। 2020 में कोरोना के कारण अप्रैल और मई में कोई भी पर्यटक नहीं रहा। इस कारण साल में 2 करोड़ 13 लाख 3 हजार 777 पर्यटक घूम सके।

विदेशी टूरिस्ट की संख्या रह गई आधी
मध्यप्रदेश में 2020 में जहां करीब 97 हजार विदेशी टूरिस्ट आए थे, वहीं कोरोना के कारण 2021 में यह संख्या घटकर 41 हजार रह गई। इस दौरान अब तक मोस्ट फेवरेट रहे बांधवगढ़ से पर्यटकों ने दूरी बना ली। यहां पर यह संख्या 20 हजार से घटकर करीब सवा दो सौ रह गई। इसकी जगह विदेशियों ने पन्ना जाना ज्यादा पसंद किया। 2020 के 4 हजार के मुकाबले 2021 में करीब 28 हजार टूरिस्ट ने पन्ना टाइगर रिजर्व की सफारी की।

चित्रकूट में विदेशी टूरिस्ट की संख्या 112 से बढ़कर 6 हजार के पार पहुंच गई। विदेशी टूरिस्ट मामले में भोपाल तीसरे नंबर पर रहा। कोरोना के कारण देसी के साथ विदेशी पर्यटकों ने भी इंदौर से दूरी बना ली। जिसके चलते साल 2020 में करीब साढ़े 3 हजार पर्यटकों के मुकाबले वहां बीते साल सिर्फ 640 पर्यटक ही पहुंचे। दूसरे और तीसरे नंबर पर रहने वाले ओरछा और खजुराहो को भी विदेशी पर्यटकों की कमी खली। अब तक यहां पर 15 हजार से 20 हजार तक पर्यटक आते रहे, लेकिन बीते साल दोनों जगहों पर 100-100 विदेशी पर्यटक नहीं पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.